Motivational Story in Hindi for Success

एक आदमी अपना सामान लेकर रेल स्टेशन पर उतरा। उसनेँ एक ऑटो वाले से कहा कि मुझे बाबाजी के आश्रम में जाना है।
ऑटो वाले नेँ कहा- की 300 रुपये लगेगा ।

Motivational Story in Hindi for Success
उस पहलवान आदमी नेँ काफी सोच कर कहा की इतने पास के तीन सौ रुपये, तुम ऑटो वाले तो लूट रहे हो।
मैँ सामान उठा कर खुद ही चला जाऊँगा। वह पहलवान आदमी काफी दूर तक अपना सामान उठाकर चलता रहा।
कुछ देर बाद वही ऑटो वाला दुबारा दिखा, अब उस पहलवान आदमी ने फिर ऑटो वाले से पूछा – अब तो मैने आधा से ज्यादा रास्ता खुद तय कर ली है तो अब आप कितना रुपये लेँगे? ऑटो वाले नेँ जवाब दिया- अब 400 रुपये लगेंगे ।
उस पहलवान आदमी का दिमाग घूम गया उसने ऑटो वाले से कहा – पहले तीन सौ रुपये, अब चार सौ रुपये, ऐसा क्योँ।
ऑटो वाले नेँ जवाब दिया- क्योंकि पहलवान , इतनी देर से तुम आश्रम की विपरीत दिशा मेँ चल रहे हो |
पहलवान आदमी शर्मिंदा होकर कुछ भी नहीँ कहा और चुपचाप टैक्सी मेँ बैठ गया।
दोस्तों इसी तरह हमारे रोज की जिँदगी के कई मुकाम मेँ हम बहुत सरे फ़ैसले को बिना गंभीरता से सोचे सीधे फैसला लेकर काम शुरु कर देते हैँ, और फिर अपनी मेहनत और समय दोनों को बर्बाद कर के निराश हो जाते है |
इसलिए जिंदगी में किसी भी काम को हाथ मेँ लेनेँ से पहले अच्छी तरह सोच विचार लीजिये कि जो आप कर रहे हैँ वो आपके लक्ष्य का हिस्सा है कि नहीँ।
हमेशा एक बात याद रखेँ कि अगर आप सही दिशा में मेहनत करेंगे तब ही आप को सफलता मिलेगा और यदि आपका दिशा ही गलत हो तो आप कितनी भी परिश्रम कर ले का कोई लाभ नहीं मिलगा और आप धीरे-धीरे अपने मंजिल से दूर जाते रहेंगे | इसीलिए यह बहुत जरुरी है की आप सही दिशा में आगे बढ़ेँ कामयाबी आपके कदम चूमेंगी ।

 

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *