Hindi Kahaniya – कर भला तो हो भला

hindi-kahani
Hindi Kahani

रामधन नाम का एक राजा था|  अपने नाम की तरह ही  वह परोपकार में विश्वास रखता था | प्रजा सेवा ही उसका जुनून था | उनकी प्रजा भी उन्हें भगवान राम की तरह पूजती  थी|

राजा रामधन  सभी की  प्रेम भाव से सहायता करते थे फिर चाहे वह उनके राज्य की प्रजा हो या अन्य किसी राज्य की |  उनकी चर्चा सर्वत्र थी | उनके गुणगान शत्रु राजा भी करते थे|

उन राजाओं में एक राजा था  भीम सिंह जिसे राजा रामधन की ख्याति  से ईर्ष्या थी | ईर्ष्या  के कारण उसने राजा रामधन को हराने की एक रणनीति बनाई और कुछ समय बाद रामधन के राज्य  पर हमला कर दिया |  भीम सिंह ने छल  से राज्य  जीत लिया और रामधन को जंगल में जाना पड़ा | इतना होने पर भी रामधन की लोकप्रियता में कोई कमी नहीं आई | हर जगह  उन्हीं की बातें चलती थी जिससे भीम सिंह ने  राजा रामधन को मृत्युदंड देने का फैसला किया |  उसने ऐलान किया कि जो राजा को पकड़कर उसके सामने लाएगा उसे हजार सोने के सिक्के मिलेंगे |

दूसरी तरफ राजा रामधन  जंगलों में भटक रहे थे तभी उन्हें एक राहगीर मिला और उसने कहा “भाई तुम इसी  ही जगह के लगते हो|  क्या तुम मुझे ताजा रामधन के राज्य की तरफ जाने वाले रास्ते का पता बता सकते हो?” राजा रामचंद्र ने पूछा “तुम्हें क्या काम है राजा से?” तब राहगीर ने कहा मेरा “बेटा बहुत बीमार है | उसके इलाज में सारा धन चला गया|  सुना है राजा रामधन सभी की मदद करते हैं|  राजा जी के पास जाकर याचना करूँगा की वो मेरी मदद कर दे ” | यह सुनकर राजा रामधन राहगीर को अपने साथ लेकर भीम सिंह के पास पहुंचे|  उन्हें देख दरबार में सभी हैरान थे | राजा रामधन ने कहा ” हे राजन आपने मुझे खोजने वाले को हजार सोने के सिक्के देने का वादा किया था|  मेरे इस  मित्र ने मुझे आपके सामने पेश किया है अतः इसे वह सोने के सिक्के दे दे| ” यह सुनकर राजा भीम सिंह को एहसास हुआ कि राजा रामधन सच में कितने महान और दानी है|

भीम सिंह ने अपनी गलती को स्वीकार किया तथा राजा रामधन को उनका राज्य लौटा दिया और सदा उनके दिखाए रास्ते पर चलने का फैसला किया |

सही कहा जाता है कर भला तो हो भला | रामधन की करनी  का ही फल था जो वह हारने के बाद भी जीत गए | उन्होंने जिस तरह सभी की सहायता की अंत में भगवान ने भी उनकी उसी तरह मदद की |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *