0

Story In Hindi — मुल्ला नसरुद्दीन

Story In Hindi

Story In Hindi

 

एक बड़ा ईमानदार तस्कर है वो पुलिस से छुपा कर सामान एक देश से दूसरे देश ले जाकर बेचता था | एक बार एक  ईमानदार पुलिस कर्मी की नियुक्ति की मुल्ला नसरुद्दीन के शहर में हो जाता है | एक रात को मुल्ला नसरुद्दीन अपने गधे पर कुछ  घास बांधकर उसे दूसरे देश ले जा रहा था |

मुल्ला नसरुद्दीन को देख रास्ते में उसे वह इमानदार पुलिसकर्मी मुल्ला नसरुद्दीन को रोकता है और कहता है कि  इस गधे के ऊपर क्या बांध रखा है |

जबाब में मुल्ला कहता है की गधे का खाना है और कुछ नहीं |

लेकिन पुलिसकर्मी को मुल्ला नसरुद्दीन के बात पर यकीन नहीं होता वह गधे को रोककर पूरी घास नीचे उतार लेता है और अच्छे से तलाशी लेता है लेकिन उसे कुछ नहीं मिलता इसलिए वह मुल्ला नसरुद्दीन को जाने देते हैं |

कुछ दिनों बाद फिर मुल्ला नसरुद्दीन एक गधे को लेकर उसी जगह पर जा रहा होता है लेकिन इस बार मुल्ला नसरुद्दीन  पहले से अधिक महंगे कपड़े पहने हुए होता है तस्कर समझ जाता है मुल्ला नसरुद्दीन  कुछ गलत काम कर रहा है  इसलिए पुलिसकर्मी मुल्ला नसरुद्दीन  को को रोककर उसके गधे की तलाशी लेता है |

लेकिन इसबार भी पुलिसकर्मी  को कुछ नहीं मिलता |  इसी कारण उसे मुल्ला नसरुद्दीन को जाने देना पड़ता है |

इस तरह के बर्ष बीत जाते है मुल्ला नसरुद्दीन धीरे-धीरे बहुत अमीर हो जाता है और पुलिसकर्मी आपने पुरे जिंदगी इस बात का पता लगाना चाहते की की आखिर मुल्ला कैसे अमीर हो रहा है | मुल्ला गधे में क्या छुपता है इस सबाल का जबाब जानने के लिए  पुलिसकर्मी   काफी परेशान हो जाता है |

इन सब बातों को काफी वर्ष बीत जाते हैं अंततः पुलिसकर्मी की रिटायरमेंट का समय आ जाता है और वह रिटायर भी हो जाता है लेकिन अपनी पूरी जिंदगी में वह बोला नसरुद्दीन को कभी पकड़ नहीं पाता है |

अपने रिटायरमेंट के समय पुलिसकर्मी मुल्ला  नसरुद्दीन से पूछने आता है कि अब मैं रिटायर हो चूका हूँ |

मै अपनी सारी जिंदगी में एक बात एक सवाल का जवाब ढूंढता रहा लेकिन मुझे पता नहीं चल पाया कि आखिर तुम गधे पर कोई सामान की तस्करी अगर नहीं करते थे तो तुम धीरे-धीरे इतना अमीर कैसे हो गए तुम आखिर किस चीज की तस्करी करते हो जिससे तुम इतने अमीर हो गए मैंने हजार बार गधे को देखा गधे के ऊपर लगे हुए घास को हर बार अच्छी तरह से देखा लेकिन मुझे कभी कुछ नहीं मिला आखिर तुम किस चीज की तस्करी  करते हो |

इसके जवाब में मुल्ला नसरुद्दीन कहते है — गधा |

Santosh-Mahato

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *