Short Story in hindi – हाथी और चिड़िया की कहानी

Short Story in hindi
Short Story in hindi

एक जंगल में एक पेड़ पर एक चिड़िया का घोंसला था | उस घोसलें में उस चिड़िया के 3 अंडे थे |

एक दिन एक हाथी उस जंगल में आ गया और हाथी उस पेड़ की एक शाखा को तोड़ के खाने लगा जिस पेड़ पर उस चिड़िया का घोंसला था |

चिड़िया ने रोते हुए हाथी से विनती किया और कहा की ” वह इस शाखा को ना खाए क्योंकि इस पेड़ पर उसका घोंसला है और घोसलें में उसके ३ अंडे है ” |

Hindi Kahani
Hindi Kahani

लेकिन हाथी नहीं माना और उसने कहा कि ” अगर इस शाखा पर तुम्हारे अंडे हैं तो मैं कुछ नहीं कर सकता मैं इसी शाखा को खाऊंगा ” इतना कह कर हाथी ने उस शाखा को तोड़ दिया जिससे चिड़िया का घोंसला और उसके तीनों अंडे नीचे गिर गए और फूट गए |

चिड़िया बहुत दुखी हुई और रोने लगी लेकिन फिर उसने यह प्रतिज्ञा किया कि वह हाथी से इस अन्याय का बदला लेगी |

चिड़िया वहां से उड़कर एक गांव में चले गई चली गई | उस गांव में एक मंदिर था | चिड़िया ने उस मंदिर में रखे भगवान के प्रतिमा के सामने जो मिठाई का भोग लगाया हुआ था चिड़िया ने उस मिठाई को अपने पंजो में उठा लिया और उससे लाकर चीटियों के एक बिल के पास फेंक दिया |

Hindi Story
Hindi Story

थोड़ी देर बाद बहुत सारी चींटियां उस मिठाई को खाने लगे चिड़िया इसी ताक में थी कि कब चीटियां उस मिठाई को खाए जैसे ही बहुत सारे चिट्टियां इस मिठाई को खाने लगी चिड़िया ने उस मिठाई को चींटी के साथ ही अपने पंजे में उठाया और ले जाकर हाथी के कान में फेंक दिया |

फिर क्या था थोड़ी देर में जब चीटियों ने हाथी के कान में काटना शुरु किया हाथी इधर-उधर पागलों की तरह कूदने लगा और एक गड्ढे में जा गिरा हाथी को बहुत चोट आई और हाथी समझ गया कि आज के बाद वह कभी किसी को कमजोर समझ कर उसके साथ अन्याय नहीं करेगा |

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *